serach engine कैसे काम करता है? कौनसा best सर्च इंजिन हैं || google, bing ,biadu....


toc


नमस्कार दोस्तों आज की पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं कि serach engine kya hai? serach engine kaise kaam krta hai? airtical kaise index hota hai? Airtical kaise rank hota hai? इत्यादि जैसी सभी जानकारी आपको इस पोस्ट में देने वाले है यदि आप इसके बारे में जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट को अंत तक पढ़े।

Search engine kya hote hai


यह जमाना इंटरनेट का जमाना है और इस जमाने में किसी के मन में जो भी प्रश्न होता है वह आकर इंटरनेट पर उसे जरूर search करता है कि इस प्रश्न का उत्तर क्या होगा और उसे इंटरनेट पर वह जानकारी आसानी से मिल जाती लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि हम जिस Search इंजन पर जाकर सर्च करते हैं चाहे वह गूगल हो चाहे और किसी का इंजन वह किस प्रकार काम करता है तथा किस प्रकार से हमें इस प्रश्न का उत्तर हमें देता है आइए जानते हैं।


serach engine कितने हैं?

सर्च इंजन की बात करें तो हम देखते हैं कि सर्च इंजन इंटरनेट पर बहुत सारे हैं लेकिन पॉपुलर सर्च इंजन कुछ इस प्रकार हैं जिसे आप लोग शायद जरूर इस्तेमाल करते होंगे

Google serach engine :- गूगल सर्च इंजन गूगल द्वारा बनाया गया एक सर्च इंजन है इस इंजन की शुरुआत 1997 मैं शुरू किया गया था और इस समय देखा जाए तो यह सबसे लोकप्रिय इंजन है लगभग इसमें 2 ट्रिलियन सर्च किए जाते हैं लोगों का कहना है कि गूगल हर सेकंड 63000 बार सर्च किया जाता है।

Yahoo serach engine:- सर्च इंजन में याहू का भी नाम दुनिया में बड़े सर्च इंजन में आता है लेकिन देखा जाए तो गूगल जैसा याहू इतना फास्ट रिजल्ट नहीं दे पाता है शायद इसीलिए यूज़र इस इंजन का उपयोग कम करते हैं।


Bing serach engine:- बिंग सर्च इंजन माइक्रोसॉफ्ट द्वारा बनाया गया इंजन है इस इंजन की शुरुआत 2009 मैं शुरू की गई थी तथा देखा जाए तो यह इंजन गूगल के बाद दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा यूज किया जाने वाला इंजन है।


serach engine किस प्रकार काम करता है?


आइए हम आपको एक उदाहरण द्वारा समझाते हैं किस तरह इंजन कैसे काम करता है।
सर्च इंजन तीन प्रकार के प्राथमिक कार्य के द्वारा यूजर को उस प्रश्न का उत्तर देता है।

Collect data :- सबसे पहले search engine इंटरनेट पर जितने भी पुरानी तथा नई वेबसाइट हैं उन्हें रीड करता है उस वेबसाइट को रीड करने के लिए वह अपने स्पाइडर अथवा जो उसका रोबोटिक टूल है उसे मदद लेता है तथा उस वेबसाइट के सभी आर्टिकल के title , keywords , image , url back link इत्यादि को चेक करता है तथा उसे अपने web स्टोर में कलेक्ट करता है।


जब उसका रोबोट टूल सभी webpage को रीड कर लेता है तथा कलेक्ट कर लेता है तब उसे इंटेक्स करने की बारी आती है इंडेक्सिंग में सर्च इंजन अपने तरह-तरह के एल्गोरिदम से सभी वेब पेज की जानकारियों को सही से व्यवस्थित क्रम में अपने डेटा में स्टोर करता है।


वेब पेज को जब सर्च इंजन अपने डाटा में स्टोर कर लेता है तब वेब पेज की रैंकिंग की बात आती हैं आइए हम web page रैंकिंग को उदाहरण द्वारा समझते हैं।

मान लीजिए आप ने गूगल पर सर्च किया "google search engin पर निबंध" अब गूगल अपने डाटा में सर्च करेगा कि कौन-कौन सी वेबसाइट इस टॉपिक पर आर्टिकल लिखी हैं जितनी भी वेबसाइट इस टॉपिक पर आर्टिकल लिखी हैं उन्हें एक जगह स्टोर करेगा और उसमें देखेगा की जो क्वेश्चन यूजर पूछा है उसके title में क्वेश्चन है कि नहीं उसके description में वह क्वेश्चन है कि नहीं और वेबसाइट कितनी पुरानी है इस आर्टिकल में कौन सा back link है इत्यादि जैसी चीजों को देखेगा तथा क्रमानुसार आपको पोस्ट के रैंकिंग के अनुसार अपने सर्च इंजन मैं दिखाएगा।



अंतिम शब्द
आशा करता हूं दोस्तों कि हमारे द्वारा लिखी हुई यह पोस्ट "serach engine कैसे काम करता है" आपको पसंद आई होगी तथा इसके बारे में आपको शुरू से लेकर अंत तक जानकारी अच्छे से मिली है कि यदि आपको यह पोस्ट पसंद आई है तो अपने दोस्तों में शेयर करें तथा इस पोस्ट से रिलेटेड कोई भी समस्या आपके मन में हो तो आप में कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने