keyword लिंकिंग क्या होती हैं?

आपने बहुत सारी ऐसी पोस्ट पढ़ी होगी जिसमें बहुत बार कुछ लिखा हुआ होता है और उस पर हम जैसे क्लिक करते हैं तो हमें कोई दूसरा पेज ओपन होकर मिलता है दरअसल जिस वर्ल्ड पर हमने क्लिक किया था वह एक लिंकिंग कीवर्ड था जिस पर क्लिक करने के बाद में एक विशेष प्रकार की url खुलती है। इस तरीके की linking दो प्रकार की होती हैं:

  1. Internal Linking
  2. External Linking

Internal Linking

 जब हम पोस्ट लिखते हैं और किसी शब्द को सिलेक्ट करके या किसी वाक्य को सेलेक्ट कर उसमें लिंक लगाते हैं ताकि उस पर जो भी कोई क्लिक करें तो वह लिंक खुल जाए, तो डाली गई लिंक उसी वेबसाइट की किसी न किसी post या page की हो जिस वेबसाइट में वह पोस्ट डाली जा रही है तो इस तरीके की लिंकिंग इंटरनल लिंकिंग होती है।

External Linking

 जब हम कोई पोस्ट लिखते हैं और किसी  शब्द या वाक्य को लिंक लगाकर एक बटन की तरह बनाते हैं जिससे क्लिक करने पर वह लिंक खुल जाए तो वहां पर डाली गई लिंक एक किसी दूसरी वेबसाइट की हो तो external linking होती है। 
अगर आप चाहते हो कि आपका ब्लॉग या वेबसाइट जल्दी rank करें तो एक्सटर्नल लिंकिंग ओर इंटरनल लिंकिंग जरूर करें लेकिन एक लिमिट में एक्सटर्नल लिंकिंग करते समय ध्यान रखें कि कुछ ऐसी वेबसाइट को ही लिंक करें जो आपकी कैटेगरी की हो और आपसे ज्यादा google में ranked हो।
 यदि आप एक ब्लॉगर बन कर पैसे कमाना चाहते हैं तो टेक्निकल परिवार पर जुड़े रहिए हम बहुत सारी ऐसी पोस्ट लेकर आ चुके हैं जिससे आपको एक अच्छा ब्लॉगर बनने में मदद मिलेगी और आप ब्लॉगिंग करके अच्छे खासे पैसे कमा पाएंगे हमने यहां पर ब्लॉगर्स के लिए पूरी ट्रेनिंग दी हुई है कि blogging करके पैसे कैसे कमाए? ब्लॉगिंग कैसे की जाती है? Best blog post कैसे किया जाता है?
 आपके मन में कोई भी सुझाव हो कोई बात हो तो हमें कमेंट में जरूर बताएं हम कमेंट का रिप्लाई जरूर देंगे

Thankyou

Himmat singh

main himmat singh rathore abhi main jaipur rajasthan me hunn sorry main mera residence location public nahi kar sakta. main ek BCA ka student lekin part time blogging or YouTube karna pasand karta hu. is blog ke alawa TECHNICAL PARIWAR @ YouTube or www.technicalpariwar.in bhi chalata hu.

एक टिप्पणी भेजें

और नया पुराने